Press "Enter" to skip to content

15 उबटन जो सर्दियों में भी नहीं मुर्झाने देंगे आपकी रंगत और खूबसूरती

चेहरे की खूबसूरती निखारने के तो हज़ार तौर-तरीके हो सकते हैं, लेकिन जब बात हो पूरे शरीर को दमकता निखार देने, दाग-धब्बे हटाने, मृत त्वचा हटाकर गहरी सफाई और कोमलता प्रदान करने की तो हम सभी के ज़ेहन में एक ही नाम तेज़ी से उभरता है और वह है- उबटन। जी हां, अपनी खूबसूरती को निखारने-संवारने के लिए किए जाने वाले सौंदर्य उपचारों में उबटन का प्रयोग करना भारतीयों के लिए जानी-पहचानी बात है।

सदियों से उबटन का इस्तेमाल घर-घर में होता आया है। वजह है- बनाने, लगाने में आसान, तैयार करने में बेहद सामान्य और परिणाम के मामले में बेमिसाल। तो आइए, जानते हैं कि उबटन से जुड़ी वे कौन सी खास बातें हैं, जो हर उस व्यक्ति को जाननी चाहिए, जो खूबसूरत, कोमल, निखरी त्वचा की ख्वाहिश रखता है- 

उबटन लगाने के फायदे

उबटन भारतीय परंपराओं में डेड स्किन हटाने, त्वचा के दाग-धब्बे कम करने और रंगत निखारने का सदियों पुराना तरीका है। उबटन के ज़रिये खूबसूरती को हमेशा से बढ़ाया-संवारा जाता रहा है। जब उबटन लगा लेने के बाद इसे साफ पानी से साफ कर दिया जाता है, इसके रिज़ल्ट उसी समय से देखे जा सकते हैं।

साफ पानी से धुुलते ही टैनिंग, डेड स्किन सेल्स हटते ही त्वचा खिली-खिली रंगत से दमकने लगती है और पहले से ज्यादा साफ़, ज्यादा कोमल लगती है। साथ ही टैनिंग के हटने से रंगत भी साफ होकर दमकने लगती है और पहले से ज्यादा निखरी दिखती है। उबटन की एक और खासियत ये भी है कि ये त्वचा के लिए जरूरी उपचारों में से एक है, जैसाकि इस कहा जाता है- एक्सफोलिएशन।

इसके अंतर्गत ये मृत कोशिकाओं को हटाकर, नए सेल बनने की प्रक्रिया में तेजी लाता है। यहां तक कि इसका नियमित इस्तेमाल त्वचा की कसावट और बनावट तक में बदलाव लाता है। यह शरीर के डार्क पैचेस और डलनेस भी खत्म करता है। यह शरीर को साफ बनाए रखने की एक ऐसी प्रक्रिया है, जो गहराई तक जाकर त्वचा को गंदगी को खत्म करती है और शरीर से अतिरिक्त ऑयल हटाने का काम भी करती है। 

उबटन लगाने का सही तरीका क्या होता है

उबटन लगाने के लिए नहाने से पहले पूरे शरीर पर हल्का सा तिल का तेल या फिर ऑलिव ऑयल लगाकर कुुछ देर तक हल्के हाथों से मसाज कीजिए। उसके बाद तैयार उबटन का पेस्ट पूरे शरीर पर या फिर अपनी जरूरत और इच्छानुसार हाथ-पैर, गर्दन, पीठ वगैरह पर एक सार, लेयर के रूप में लगा लेना चाहिए।

बेहतर तो यही है कि इसे हमेशा चेहरे सहित पूरे शरीर पर ही लगाया जाए, क्योंकि यह शरीर की डेड स्किन और टैनिंग वगैरह पूरी तरह से हटा देता है। ऐसे में अगर इसे पूरी बॉडी पर अप्लाई किया गया हो तो निखार भी पूरे शरीर पर ही एकसमान नज़र आता है। साथ ही त्वचा की साफ-सफाई भी गहराई तक हो जाती है।

उबटन लगाने के बाद कुछ देर के लिए छोड़ दीजिए। उसके बाद जब उबटन आधा सूख जाए तो उसे हल्के हाथों से रगड़-रगड़ कर छुड़ा देना चाहिए। इससे डेड स्किन, टैनिंग के साथ-साथ कुछ अतिरिक्त बाल भी हट जाते हैं। साथ ही शरीर में रक्त संचार भी तेज हो जाता है। उबटन को पूरी तरह से साफ करने के बाद मौसम के हिसाब से ठंडे या गुनगुने पानी से नहा लेना चाहिए।

नहाने के लिए तेज़ गर्म पानी अवॉइड करने चाहिए, क्योंकि इससे त्वचा की प्राकृतिक नमी कम होने लग जाती है। अब पूरे शरीर को रोंएदार तौलिए से हल्के हाथों से थपथपाते हुए पोंछ लीजिए, ताकि थोड़ी नमी त्वचा में बनी रहे। अगर मौसम सर्दियों का है तो आखिर में इसके बाद पूरे शरीर पर हल्का सा मॉइश्चराइज़र अप्लाई करना न भूलें।

Aloe Vera Face Scrub

सर्दियों में ऐसे बनाएं घर पर ये 15 उबटन

उबटन बनाना और लगाना यूं तो एक जानी-पहचानी सी बात लगती है। फिर भी इसके बारे में ये बात जान लेना बहुत जरूरी है कि उबटन की अहमियत सर्दियों में और भी ज्यादा बढ़ जाती है, क्योंकि इस मौसम में त्वचा की प्राकृतिक नमी खो जाती है और रूखी त्वचा की एक परत सी सारे शरीर पर नजर आने लगती है।

इसके अलावा इस मौसम में शरीर की देखभाल और साफ-सफाई गर्मियों की तुलना में कम ही हो पाती है। इसी के चलते हम आपको जानी-मानी सौंदर्य विशेषज्ञा शहनाज़ हुसैन द्वारा बताए गए कुछ ऐसे उबटन की विधियां बता रहे हैं, जो खासतौर से सर्दियों के मौसम में त्वचा की गहरी देखभाल के लिए बनाए जा सकते हैं-

  1. ओट एक ऐसा फूड है, जो हर घर में आसानी से मिल जाता है। अपनी ज़रूरत के अनुसार ओट मील की मात्रा लेकर इसमें दही और चुटकी भर हल्दी मिला लीजिए और अच्छी तरह से फेंट लीजिए। इस लेप को शरीर पर लगाकर थोड़ी देर के लिए उसी प्रकार छोड़ दीजिए, जैसाकि आमतौर पर उबटन लगाते हुए किया जाता है।
  2. फिर हल्के हाथों से रगड़कर छुड़ाने के बाद गुनगुने पानी से धो लीजिए। यह उबटन सभी प्रकार की स्किन टाइप के लिए अच्छा है।
  3. एक बड़ा चम्मच नींबू और संतरे के छिलकों को सुखाकर, खुरदुुरा कूटकर बनाया गया मिश्रण लीजिए। इसमें एक छोटा चम्मच दरदरा कूटे हुए बादाम और एक छोटा चम्मच ओट मिला लीजिए। इसमें एक-एक छोटा चम्मच शहद और दही डालकर अच्छी तरह से फेंट कर ज़रा देर को छोड़ दीजिए, ताकि सारी सामग्री अच्छे से एकसार हो जाए। इस उबटन का त्वचा पर लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दीजिए। फिर हल्के हाथों से गोल-गोल घुमाते हुए इसे छुड़ा लीजिए। इसके बाद इसे गुनगुने पानी से धोकर साफ कर लीजिए। आप चाहें तो इस पेस्ट में एक अंडे का सफेद भाग फेंटकर भी मिला सकती हैं। उसका बहुत फायदा मिलेगा।
  4. रूखी त्वचा के लिए अगर उबटन बनाना हो तो एक बड़े चम्मच ओट में थोड़ा सा शहद, दूध और बादाम का तेल डालकर अच्छे से मिला लीजिए। पंद्रह मिनट के बाद त्वचा को कच्चे दूध से नम कर लीजिए और हल्के हाथों से रगड़ते हुए उबटन को छुड़ा लीजिए। फिर गुनगुने साफ पानी से त्वचा को पूरी तरह से साफ कर लीजिए। 
  5. अगर त्वचा बहुत ही ज्यादा रूखी-सूखी है तो उसके लिए उबटन बनाने को आप एक अंडे का सफेद भाग, एक चम्मच नारियल तेल, कुछ बूंदें नींबू के रस की और दो चम्मच एलोवेरा जेल को खूब अच्छी तरह से मिला लीजिए और कुछ सेकेंड के लिए छोड़ दीजिए। इस लेप को आधे घंटे के लिए त्वचा पर लगाकर बहुत ही हल्के हाथों से मलकर छुड़ा दीजिए। फिर गुनगुने पानी से पूरी तरह से साफ कर दीजिए।
  6. एलोवेरा बहुत ही प्रभावी मॉइश्चराइज़र है। साथ ही इसकी हीलिंग पावर भी जबर्दस्त होती है। उबटन में मिलाकर इसे लगाने से त्वचा के दाग-धब्बे घटने के साथ-साथ चोट के निशान और घावों अथवा जले हुए हिस्सों के ठीक होने में भी मदद मिलती है। एक चम्मच ओट या मुुल्तानी मिट्टी लीजिए। इसमें संतरे के सुखाए हुए छिलकों का पाउडर एक चम्मच और इतनी ही दही ले लीजिए। अब इसमें दो चम्मच एलोवेरा जेल मिलाकर अच्छी तरह से फेंट लीजिए। इस लेप को त्वचा पर लगाकर आधे घंटे के बाद हल्के हाथों से छुड़ाकर हल्के गुनगुने पानी से धो दीजिए। 
  7. अगर आप उबटन को खासतौर पर चेहरे पर लगाना चाहते हैं तो एक-एक चम्मच संतरे के जूस और शहद को एक अंडे के सफेद हिस्से में लगाकर अच्छी तरह से फेंट लीजिए। बीस मिनट के लिए इसे चेहरे पर लगाकर छोड़ दीजिए। ये एक बेहतरीन टैन रिमूवर ही नहीं है, बल्कि त्वचा की गहराई तक सफाई करके उसे नई चमक और कोमलता देने का काम भी करता है। 
  8. आपको जानकर हैरानी होगी कि उबटन का काम सिर्फ डेड स्किन हटाकर रंगत निखारना तक ही नहीं है, बल्कि ये स्ट्रेच मार्क्स घटाने का काम भी करता है। स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए उबटन बनाने के लिए आप सबसे पहले तो उस प्रभावित हिस्से पर ऑलिव ऑयल लगाकर हल्के हाथों से कुछ देर तक मसाज कीजिए। उसके बाद बेसन, चुटकी भर हल्दी और दही मिलाकर बने पेस्ट को उस हिस्से पर लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दीजिए। आधे घंटे के बाद बहुत ही हल्के हाथों से मलते हुए इस लेप को गुुनगुने पानी की सहायता से छुड़ा लीजिए। इसके नियमित इस्तेमाल से मिला परिणाम आपको हैरानी में डाल देगा। 
  9. अगर आपकी त्वचा ने काफी ज्यादा उपेक्षा झेली है तो उसे नई रौनक देने के लिए आप शहद, संतरे का जूस, मलाई, दही, बादाम का तेल, एलोवेरा जेल और अंडे का सफेद भाग लेकर आपसे में खूब अच्छी तरह से मिला लीजिए। ये लेप आधे घंटे के लिए लगाने के बाद हल्के गुुनगुने पानी से धो लीजिए। इस उबटन की खासियत ये है कि ये बेजान से बेजान त्वचा को गहराई तक मॉइश्चराइज करके उसमें नई जान डाल देता है। 
  10. अगर उबटन रंगत निखारने के लिए लगाना चाहते हैं तो कमल के फूल की कुछ पत्तियां तेज़ गर्म दूध में लगभग एक घंटे के लिए भिगोकर छोड़ दीजिए। उसके बाद इन पत्तियों को हाथों की सहायता से ही मसल लीजिए। अब इसी मिश्रण में तीन चम्मच बेसन मिलाकर तब तक फेंटिए, जब तक कि ये एक पेस्ट में न बदल जाए। इसे आप पूरे शरीर पर भी लगा सकते हैं और अगर सिर्फ चेहरे पर लगा रहे हैं तो चेहरे के साथ-साथ गर्दन पर भी लगाना न भूलें। आंखों के अलावा उसके आस-पास का हिस्सा भी इसे लगाने से अवॉइड करें। आधे घंटे बाद उबटन को साफ कर लीजिए। 
  11. एक मुट्ठी गुलाब की ताज़ी पत्तियां लेकर उसे पीसकर पेस्ट बना लीजिए। अब इसमें दो-दो चम्मच शहद, चंदन पाउडर, दही और तीन चम्मच संतरे के छिलकों को सुखाकर, पीसकर बनाया गया पाउडर लेकर पेस्ट बना लीजिए। इस उबटन को भी बाकी उबटनों के समान ही लगाकर छोड़ दीजिए और फिर साफ कर लीजिए। गुलाब की पत्तियां रंगत निखारने के अलावा मानसिक शांति प्रदान करके तनाव भी दूर करती हैं। ये एक्ने से प्रभावित त्वचा, संवेदनशील त्वचा से लेकर सभी तरह की स्किन टाइप के लिए बेहद फायदेमंद है। 
  12. पिसे हुुए खीरे के मिश्रण में पके हुए पपीते का गूदा अच्छी तरह से मसलकर, दूध के साथ मिक्स कर लीजिए। इसमें दो चम्मच ओट्स और चुटकी भर हल्दी भी मिला लीजिए। फिर इसमें गुलाबजल और नींबू के रस की कुछ बूंदें मिलाकर खूब अच्छे से फेंट लीजिए। इसे चेहरे, हाथ, गर्दन वगैरह पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दीजिए और फिर हल्के हाथों से मलते हुए छुड़ा दीजिए। गुनगुने पानी से पूरी तरह से साफ कर लीजिए। यह उबटन टैनिंग को पूरी तरह से हटा कर रंगत निखारता है। 
  13. अगर आप बहुत ज्यादा ऑयली त्वचा के लिए उबटन बनाना चाहते हैं तो चार चम्मच मूंग दाल को रात भर के लिए सादे पानी में भिगोकर छोड़ दीजिए। सुबह इसे छानकर पेस्ट बना लीजिए। अब इसमें चार चम्मच पके हुए टमाटर का बारीक किया हुआ गूदा, थोड़ी सी दही और चुटकी भर हल्दी मिलाकर पेस्ट बना लीजिए। इस पेस्ट को हल्के हाथों से रगड़ते हुए चेहरे, गर्दन और हाथों पर लगा लीजिए। बीस मिनट बाद हल्के गुनगुने पानी से साफ कर लीजिए। यह उबटन त्वचा से अतिरिक्त तेल हटाने में मददगार साबित होता है। 
  14. दो चम्मच चोकर में एक चम्मच दरदरा कुटा हुआ बादाम, एक चम्मच शहद, दही, गुलाबजल और अंडे का सफेद हिस्सा मिलाकर अच्छी तरह से मिक्स कर लीजिए। इसे चेहरे, गर्दन और हाथों पर तो अच्छी तरह से लगा लीजिए, लेकिन होंठों और आंखों के आस-पास का पूरी हिस्सा बचाए रखिए। आधे घंटे के बाद सामान्य तरीके से धो लीजिए। 
  15. दो चम्मच शहद को थोड़े से गुलाबजल और सूखे मिल्क पाउडर के साथ अच्छी तरह से मिक्स कर लीजिए। इस उबटन को चेहरे, गर्दन और हाथों पर बीस मिनट तक लगाए रखने के बाद सादे पानी से धो दीजिए। अगर आपकी त्वचा बहुत ज्यादा ऑयली है तो उबटन बनाते समय इसमें थोड़ी सी मुल्तानी मिट्टी भी मिला लीजिए।
  16. दो चम्मच बेसन में, दो चम्मच चोकर, दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी, दो चम्मच मोटा पिसा हुआ ताज़ा नारियल, चुटकी भर हल्दी, एक चम्मच शहद, आधे नींबू का रस, एक चम्मच मलाई, एक चम्मच गुलाबजल, दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी, दो चम्मच ओट और दही में अच्छे से मिक्स करके पेस्ट बना लें। इसके बाद इसे पूरे शरीर पर लगा कर आधा सूखने तक छोड़ दें। बाद में हल्के हाथों से रगड़ते हुए छुड़ा लीजिए और गुनगुने पानी से पूरी तरह से साफ कर दीजिए। यह उबटन टैनिंग से झुलसी, मुर्झाई त्वचा को पूरी तरह से नई रंगत दे देता है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: