पुरुषों की इन गंदी आदतों की वजह से कम हो जाती हैं मर्दाना ताकत, जानकर आप भी बचिए इन गलतियों से…

अनियमित जीवनशैली से कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ह्यूमन रिप्रोडक्शन में पब्लिश एक हालिया स्टडी के अनुसार पुरुषों की कुछ आदतों के कारण उनमें स्पर्म काउंट कम होने की प्रॉब्लम पैदा हो रही है। मर्दों के लिए एक अहम समस्या है स्पर्म काउंट की। स्पर्म कम और गुणवत्ता ठीक नहीं होने की वजह से फर्टिलिटी पर बुरा असर पड़ रहा है।

आजकल भागदौड़ भरी जिंदगी के चलते हम अपनी सेहत का ख्याल नहीं रख पाते हैं। अनियमित जीवनशैली से कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ह्यूमन रिप्रोडक्शन’ में पब्लिश एक हालिया स्टडी के अनुसार पुरुषों की कुछ आदतों के कारण उनमें स्पर्म काउंट कम होने की प्रॉब्लम पैदा हो रही है। मर्दों के लिए एक अहम समस्या है स्पर्म काउंट की। स्पर्म (शुक्राणु) कम और गुणवत्ता ठीक नहीं होने की वजह से फर्टिलिटी पर बुरा असर पड़ रहा है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि अगर आप परेशानी से जूझ रहे हैं या फिर आगे भविष्य में बचना चाहते हैं तो जानिए ये इन आदतों को और कोशिश करें इनको अपने जीवन से न करने की। आइये जानते हैं…

इन आदतों से कम होता है पुरुषों का स्पर्म काउंट – स्मोकिंग: आजकल कम उम्र में सिगरेट, शराब, गुटखा और कई बार ड्रग्स की लत भी लड़के-लड़कियों में काफी बढ़ गई है। इन आदतों के कारण भी वीर्य की गुणवत्ता खराब होती है। वे लोग जिन्‍हें ज्‍यादा सिगरेट पीने की आदत है, वे सावधान हो जाएं। इससे आपके शरीर में कैडमियम डी.एन.ए. को क्षति पहुँचती है जिस कारण शुक्राणुओं के संख्या में कमी आ जाती है।

टाइट कपडे: टाइट पैंट पहनने से ना सिर्फ आपके प्राइवेट पार्ट्स में जलन और खुजली की परेशानी होती है बल्कि ये आपके स्पर्म के लिए भी अच्छा नहीं है। बहुत से लोग काफी कसी हुई अंडरवेयर पहनते हैं जिससे वह शरीर में अंडकोष के तापमान को बढा देते हैं। टाइट अंडरवेयर पहनने की जगह पर ढीले बोसेर्स पहनने की आदत डालें। टाइट पैंट से आपके टेस्टिकल्स यानी अंडकोष आपकी टांगों के पास रहते है, जिससे वो पूरे दिन शरीर की गर्मी मिलने से गरम बने रहता है और जिससे उनको गर्मी मिलते है नतीजा होता है स्पर्म का मरना।

मोबाइल फोन को रखने की जगह: ज़्यादातर लोग अपने मोबाइल को अपनी पैंट की जेब में ही रखते हैं, जो लोग मोबाइल फोन को दिनभर अपनी जेब में लेकर घूमते हैं उन्‍हें थोड़ा सचेत होने की आवश्‍यकता है क्‍योंकि मोबाइल फोन से निकलने वाली रेडिएशन पुरुषों के स्‍पर्म काउंट पर काफी ज्‍यादा प्रभाव डालता है। रिसर्च बताती हैं कि फोन को पैंट की जेब में रखने से स्पर्म 9 प्रतिशत तक कम हो सकते हैं।

ज्यादा शराब पीना: ज्यादा शराब पीने से ऐसे टॉक्सिन बनने लगते हैं जिसका खराब असर बॉडी पर पड़ता है। ये न केवल स्पर्म काउंट को कम करता है बल्कि स्पर्म को नुकसान भी पहुंचाता है।

गरम पानी से नहाना: आमतौर पे सर्दियों में हम सभी गरम पानी से नहाना पसंद करते है पर क्या आपको पता है जिस तरह लैपटॉप से नुकसान पहुँचता है ठीक उसी तरह इससे भी आपके स्पर्म मर सकते हैं और इसका असर आपके जीवन में धीरे-धीरे दिखता है।

पैरों पे लैपटॉप रखकर काम: एक खबर के मुताबिक ‘टेस्टिकल्स यानी अंडकोष शरीर के तापमान से लगभग दो डिग्री ठंडे रहने चाहिए। मतलब अगर आप अपनी गोद में लैपटॉप को रखते हैं तो इसकी गर्म हवा से आपके स्पर्म मर सकते हैं। इसीलिए लैपटॉप को टेबल पर रखकर ही काम करें।

कई सारे सप्लीमेंट्स लेना: अगर आप में फिटनेस का जुनून है तो संभव है कि आप अपने लुक को मेंटेन रखने के लिए कुछ सप्लीमेंट्स भी लेते हों। कई सारे सप्लीमेंट्स आपके टेस्टोस्टेरोन लेवल को खराब कर सकता है जिसका सीधा असर आपके स्पर्म काउंट पर पड़ेगा।

नींद की कमी: जिस तरह आपके शरीर और दिमाग दोनों को आराम चाहिए, ठीक उसी तरह आपके स्पर्म को भी रेस्ट की ज़रूरत होती है। सात से आठ घंटे की नींद आपके शरीर के स्पर्म काउंट को बढ़ा सकती है। अगर आप किसी भी कारण सात घंटे की नींद ना ले पाएं तो योगा करके जरिए स्पर्म को बढ़ा सकते हैं।